फ़ोकासड मुद्दों पर अनिवार्य टेस्टिंग हेतु हितधारकों की बैठक

एमटीसीटीई से संबंधित मुद्दों पर हितधारकों की एक बैठक 16 मार्च 2018 को टीईसी में आयोजित की गई थी, जिसमें दूरसंचार ओईएम, प्रयोगशालाओं, निर्माताओं और ऑपरेटरों संघों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया गया था। एमटीसीटीई पर एक प्रेजेंटेशन दी गई थी, जिसकी प्रतिलिपि यहां डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है। बैठक के दौरान कई प्रश्न उठाए गए जिनका टीईसी द्वारा उत्तर/ स्पष्ट किया गया।

बैठक के दौरान, यह सामने आया कि कुछ मुद्दों पर विस्तृत चर्चा/ विचार-विमर्श करने की आवश्यकता है। तदनुसार, निम्नलिखित फोकस क्षेत्रों की पहचान की गई:

निर्यात-आयात और सीमा शुल्क निकासी से संबंधित मुद्दे। मॉड्यूल, स्पेयर, घटकों, रिटर्न रिपेयर, एसकेडी, सीकेडी इत्यादि के संबंध में कस्टम क्लीयरेंस से संबंधित मुद्दे भी शामिल किए जाएंगे।

सर्वर, नोटबुक, टैबलेट के टेस्टिंग पर स्पष्टता रखने के लिए आईटी उपकरणों के टेस्टिंग से संबंधित मुद्दे। सीआरएस से मोबाइल फोन और पीओएस टर्मिनल की अधिसूचना से उत्पन्न होने वाले मुद्दे भी शामिल किए जाएंगे।

आईओटी, एम 2 एम और अन्य अंतर-क्षेत्रीय उपकरणों से संबंधित मुद्दे।

एमटीसीटीई के तहत एकल प्रमाणीकरण के लिए फॅमिली/श्रृंखला/ संबंधित मॉडल की परिभाषा से संबंधित मुद्दे।

लेबलिंग, ई-लेबलिंग, लेबल/ क्यूआर कोड इत्यादि के मुद्रण/प्रत्यय से संबंधित मुद्दे ।

ऑनलाइन पोर्टल से संबंधित मुद्दे और ऑनलाइन पोर्टल के परीक्षण संस्करण के डेमो।

उपरोक्त मुद्दों को अलग से कवर करने के लिए छह बैठकें आयोजित करने का प्रस्ताव है। जो लोग इनमें से किसी भी मीटिंग में भाग लेना चाहते हैं, वे ddgtc.tec@gov.in पर मेल द्वारा उनके नाम (एक संगठन से एक व्यक्ति भाग ले सकता है) भेज सकते हैं। इन बैठकों के लिए इनपुट अलग से मेल किया जा सकता है। बैठकों की तिथियों को अलग से अधिसूचित किया जाएगा।

Profile photo of admin